पृष्ठ

मंगलवार, 19 अक्तूबर 2010

।।ऊँ जय ब्लागर मंडली।।



ब्लागर व्यथा ( एक व्यंग्य)

लिखना पढना सीखा, लिखने तब  मन को  समझाया
लिखने की जब सूझी, तब ब्लाग अपना मैने बनाया
ऊँ जय ब्लागर मंडली

दे नाम ब्लाग को फिर, उसे कुछ  चित्रो से सज़ाया
ढूढे कुछ विजेट नेट पर, फिर ब्लाग मे उन्हे लगाया
ऊँ जय ब्लागर मंडली

जा दूसरो के ब्लाग पर, देखा क्या मन को भाये
किल्क किया उन पर, फिर अपने ब्लाग पर लाया
ऊँ जय ब्लागर मंडली

ब्लागर देखे मैने बहुतेरे, कुछ अच्छे कुछ थे वंहा बुरे
अच्छा बुरा ना देखे कोई, बस नाम पर टिप्पणी करते सारे
ऊँ जय ब्लागर मंडली

नाम ना हो दोस्त ना हो तो, पोस्ट पर ना आये कोई
कुछ ब्लागर लिखते कुछ भी, फिर भी टिप्पणी देता हर कोई
ऊँ जय ब्लागर मंडली

हर तरफ 'गैंग' जैसा है जाल, चलते है जंहा सब अपनी चाल
महिला ब्लागर लिख दे कुछ भी, सब उसको कहते बस कमाल
ऊँ जय ब्लागर मंडली

अच्छे लेखो कविताओ पर, आये ब्लागर बस दो - चार
राजनीति या व्यंग्य जैसो पर, बस करते बात या प्रहार
ऊँ जय ब्लागर मंडली

लिखता रहता मै फिर भी, ना करता किसी की परवाह
मन के भावो को समेट कर, करता मै अपनी पूरी चाह
ऊँ जय ब्लागर मंडली

कुछ मित्रो से मिल जाता स्नेह, नाम की नही मुझको दरकरार
कभी समय मिले आप को भी, आये और नमन करे स्वीकार
ऊँ जय ब्लागर मंडली

प्रतिबिम्ब बड़थ्वाल

8 टिप्‍पणियां:

  1. वाह प्रतिबिम्ब जी ! बहुत खूब ...मंडली . का सदस्य होकर आपको बधाई भेज रहा हूँ !

    उत्तर देंहटाएं
  2. Peatiji aap ko yahan par pakad liya... Ham bhi aap ki mandal me pahunch gaye hain...

    उत्तर देंहटाएं
  3. जय हो ► प्रति भईया की ... आपकी लीला अपरम्पार है ... ज्यादा न सोचो भईया बस लिखते चले जाओ ... कभी तो इनका महिला ब्लॉगर्स से मन भरेगा !! कभी तो आपके दर्शनार्थ भी ये लोग आयेंगे !! आप चिंता न करें पहले मैं आपके ब्लॉग को बेध कर कमेन्ट टिका रहा हूँ ... जय हो ब्लॉगर्स बाबा की ... ;-)

    उत्तर देंहटाएं
  4. कुछ मित्रो से मिल जाता स्नेह, नाम की नही मुझको दरकरार
    कभी समय मिले आप को भी, आये और नमन करे स्वीकार

    यही मेरी सोच भी है...
    लेकिन महिला वाली बात पे मैं सहमत नहीं हूँ ... बस जिसका नाम होता ( महिला या पुरुष ) है ..वह कुछ भी लिखे जयजयकार होती है... जो अनाम है कितना भी बढ़िया लिखे नजर से आया गया होता है... Jay ho blogger baba kee..

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपका लिखा तो मुझे पसंद आता है ..ये रचना भी अच्‍छी लगी ..
    ऊँ जय ब्लागर मंडली !!
    लिखते रहें !!

    उत्तर देंहटाएं
  6. आज ४ फरवरी को आपकी यह सुन्दर भावमयी पोस्ट चर्चामंच पर है... आपका आभार ..कृपया वह आ कर अपने विचारों से अवगत कराएं

    http://charchamanch.uchcharan.com/2011/02/blog-post.html

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणी/प्रतिक्रिया एवम प्रोत्साहन का शुक्रिया

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...