पृष्ठ

शुक्रवार, 24 अगस्त 2012

तुझ संग प्रीत लगाई हिन्दी



[ गीत 'तुझ संग प्रीत लगाई सजना' से प्रेरित होकर हिन्दी के लिए खासकर फेसबुक पर मित्रो के लिए    ]

तुझ संग प्रीत लगाई हिन्दी
हिन्दी हिन्दी ओ हिन्दी
भारत के माथे की बिंदी

आजा अब यहाँ पर तेरा प्रयोग करूँ
अपना नाम भी यहाँ हिन्दी मे लिख दूँ
मित्रो को भी तेरा उपयोग सिखा दूँ
एक तू ही मन को है भाई हिन्दी
हिन्दी हिन्दी ओ हिन्दी
भारत के माथे की बिंदी

तूने मुझे बचपन से बोलना सिखाया
अपने भावो को तूने लिखना सिखाया
दुख और सुख को कहना सिखाया
फिर भी अँग्रेजी तुझ पे भारी हिन्दी
हिन्दी हिन्दी ओ हिन्दी
भारत के माथे की बिंदी

तुझे सीखने अब सब आगे आए
अंतर्जाल पर कई सॉफ्टवेयर पाये
अब मित्रो से है अनुरोध करते जाये
इच्छा है सब लिखे पढे हिन्दी
हिन्दी हिन्दी ओ हिन्दी
भारत के माथे की बिंदी

- प्रतिबिम्ब बड़थ्वाल

2 टिप्‍पणियां:

  1. तुझ संग प्रीत लगाई हिन्दी-----Excellent composition

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर भाव सचमुच हिंदी है भारत के माथे की बिंदी ...

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणी/प्रतिक्रिया एवम प्रोत्साहन का शुक्रिया

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...